Hindi poem

नारी !

नरक से भी बत्तर है,जहा नारी का सम्मान नही ! नारी तेरी जननी है ! वासना का सामान नही ! जैसी तेरी करनी है,वहा क्षमा का कोई स्थान नहीं ! बन जाएगी काली गर,उस मंजर से तू अनजान नहीं ! अभीभी समय है बदलजाक्या मा का प्यार याद नहीं ? स्त्रीत्व अंश तुझमें भी है… Continue reading नारी !

#shayari

नदी मै 💙

जहां खो गए हैं बस उसी जगह को जहां मान ले तो ? शायद सारा जहां ही मिल जाए । राही खुद ही तो राह है मंजिल तक जाने की ..हर मोड़ पर एक राही खड़ा है देर है बस वहां थम जाने की ..मंजिल तक जाओगे गर संभलते संभलते.. फिर किसी राही से मिल… Continue reading नदी मै 💙

sketch and writing

She is all colours 🌼

She loves her all colours 🌼 I Tried Coloured pencil sketch 🎨 ...  Didn't write any poem .. felt like she herself is a poem ...poem full of colours, wisdom, hope, love, sacrifice, patience, Energy, equality, discipline, motherhood,devotion, independence. She is you ! Irrespective of gender, species,thing ...she is that energy which resides everywhere ..she… Continue reading She is all colours 🌼